You are here
Bank PO Hindi Notes SSC 

Study Notes: छूट : विश्लेष्णात्मक विवरण

छूट(बट्टा) पर आधारित प्रश्न विभिन्न परीक्षाओं में क्वांड खंड में पपूछे जाते हैं| इस विषय की बारीकियों को समझने केलिए हम आप आपको इसके कुछ नियमों से परिचित करा रहे हैं| यह  नियम आई.बी.पी.एस परीक्षा, एस.बी.आई. पी.ओ 2015 आदि में आपके लिए सहयक होंगे| आशा है आपको यह पोस्ट पसंद आएगी!!!      

Read More
Bank PO Hindi Notes SSC 

Study Notes: कांसेप्ट एवं क्वांट क्विज, पाइप एवं कुंड

पाइप की प्रकृति : इनलेट : एक टैंक या जलाशय से भरने के लिए जुड़े पाइप को इनलेट कहा जाता है| आउटलेट : एक टैंक से जुड़ा पाइप और खाली के लिए इस्तेमाल किया जाता है उसे आउटलेट कहते हैं| अवधारणा: यदि एक पाइप, एक टैंक को भरने के लिए x घंटे लेता है तो शेष हिस्सा 1 घंटे में भरता है=1/x यदि एक पाइप एक टैंक को x घंटे में भरता है और अन्य पाइप पुरे भरे हुए टैंक को y घंटे में खाली करता है तो नेट हिस्सा 1 घंटे…

Read More
Bank PO Hindi Notes SSC 

Study Notes: समय और दूरी पर स्टडी नोट और क्विज

1).दूरी, समय और गति के बीच संबंध: Distance = speed x Time (2).किसी वस्तु की गति को  किमी प्रति घंटा से  मीटर प्रति सेकंड में परिवर्तित करने के लिए गति को गुणा, 1000 / 3600 = 5 / 18  (3).किसी वस्तु की गति को मीटर प्रति सेकंड से  किमी प्रति घंटा में परिवर्तित करने के लिए गति को गुणा = 3600 / 1000 = 18/ 5 (4).यदि A और B का गति अनुपात a:b है तो निश्चित दूरी को कवर करने के लिए समय का अनुपात  = 1/a : 1/b = b : a होगा| (5).यदि एक…

Read More
Bank PO Hindi Notes SSC 

Study Notes: साधारण ब्याज एवं चक्र वृद्धि ब्याज के लिए

साधारण ब्याज  (SI) महत्वपूर्ण टर्म :- मूलधन: – कुछ अवधि के लिए ऋण स्वरुप ली गई राशि या उधार ली गई को मूलधन कहा जाता है| ब्याज: – अन्य राशि को उपयोग करने के लिए दी जाने वाली अतिरिक्त राशि को ब्याज कहा जाता है| साधारण ब्याज (S.I.):- यदि उधार ली गई निश्चित राशि पर ब्याज को समान रूप से गिना जाए तो उसे साधारण ब्याज कहा जाता है| मान लीजिये मूलधन= P, दर = r % प्रति वर्ष (p.a.), और समय  = t वर्ष तो साधारण ब्याज (SI)= ((P×r×t))/100…

Read More
Hindi Notes 

Competitive Exam Notes for Probability (प्रायिकता)

प्रायिकता के बारे में सभी प्रायिकता प्रायिकता का सिद्धांत आकस्मिक घटनाओं को समझने में सहायता करती है. प्रायिकता सिद्धांत ka केंद्र आकस्मिक वस्तुएं या चर और घटनाएं हैं. घटना को आम तौर पर एक प्रयोग के परिणाम के रूप में परिभाषित किया गया है. घटनाओं को निर्धारणात्मक या रूप में  या प्रायिकता (आकस्मिक) में वर्गीकृत किया जा सकता है। निर्धारणात्मक घटना जब एक प्रयोग समरूप शर्तों के तहत दोहराया जाता है और यह एक ही परिणाम का प्रदान करता है, तब इस प्रयोग को निर्धारणात्मक प्रयोग के रूप में जाना जाता है. ☞उदाहरण के तौर पर  यदि एक कार निर्बाध स्थिति में…

Read More
Hindi Notes 

Competitive Exam Notes for Permutation and Combination

Permutation और Combination के विषय में सबकुछ Permutation व्यवस्था की विभिन्न संख्या Permutations कहलाती है. 4 अक्षरों से एक शब्द बनाना बिना किसी दुहराव के, permutation का एक उदाहरण है. मान लीजिये हमे 10 अक्षरोंA, B, C, D, E, F, G, H, I में से 4 अक्षरों का चयन करके 4 अक्षरों का एक शब्द बनाना है. ☞ उदाहरण के तौर पर,20 अलग वस्तुओं में  से 4 अलग वस्तुओं के permutations को इस रूप में लिखा जा सकता है. Combination कुछ वस्तुओं के पुरे या कुछ भाग में से चुने हुए चीजों की व्यवस्था के संदर्भ के बिना चुनी हुई वस्तुओं में चीजों की व्यवस्था…

Read More
Hindi Notes 

Competitive Exam Notes for Time and Work (समय और कार्य)

यह अध्याय सीधे और प्रत्यक्ष और प्रतिलोम रूपों की अवधारणा पर आधारित है. हमे समय, कार्य और कर्मचारीयों की संख्या के संबंध को समझने की जरूरत है.   यह मानते हुए कि सभी कर्मचारियों को एक ही दक्षता के साथ काम करते है तो हम निष्कर्ष निकाल सकते हैं कि किया गया काम कर्मचारियों की संख्या का प्रत्यक्ष समानुपातिक और कार्य पूरा करने में लगे दिनों की संख्या का अप्रत्यक्ष समानुपातिक है   ☞उदहारण के तौर पर, यदि एक आदमी एक कार्य को 10 दिन में पूरा करता है तो एक दिन…

Read More
Hindi Notes 

Competitive Exam Notes for Profit and Loss (लाभ और हानि)

लाभ और हानि लाभ और हानि का निर्धारण लागत मूल्य और विक्रय मूल्य द्वारा किया जाता है. लागत मूल्य वह मूल्य है जिस पर किसी वस्तु को ख़रीदा जाता है और विक्रय मूल्य वह मूल्य है जिस पर वस्तु को बेचा जाता है. लाभ = विक्रय मूल्य – लागत मूल्य  हानि = लागत मूल्य – विक्रय मूल्य  प्रतिशत लाभ और हानि हमेशा लागत मूल्य पर ही निकाला जाता है.  ☞ यदि m वस्तु का लागत मूल्य n वस्तु के विक्रय मूल्य के बराबर है, तो लाभ प्रतिशत होगा-   अंकित मूल्य  अंकित मूल्य…

Read More
Hindi Notes 

Competitive Exam Notes for Ratio and proportion (अनुपात और समानुपात)

अनुपात और समानुपात के बारे में जानें सब कुछ अनुपात क्या है ? अनुपात एक गणितीय शब्द है जिसका प्रयोग दो समान मात्राओं(quantities) को समान इकाई में व्यक्त करने के लिए किया जाता है. दो पद (टर्म) ‘x’ और ‘y’ का अनुपात x : y में लिखा जायेगा. अनुपात x : y में, हम कह सकते हैं कि x पहली टर्म या पूर्व पद है और y, दूसरा टर्म या बाद का पद है. सामान्य रूप से, संख्या x का संख्या y के लिए अनुपात को संख्या x और y का भागफल रूप में परिभाषित किया जा सकता है अर्थात x/y. Example: 25 किमी का 100 किमी…

Read More
Hindi Notes 

Competitive Exam Notes for Percentage (प्रतिशत)

प्रतिशत का अर्थ होता है  ‘प्रत्येक सो ‘ “प्रतिशत  एक  भिन्न  होता है जिसका हर 100 है और भिन्न के अंश को रेट प्रतिशत कहा जाता है”| प्रतिशत को  % प्रतीक द्वारा लिखा जाता है|  प्रतिशत की गणना करने का कांसेप्ट  यदि हमें x का y% ज्ञात करना है तो,  x का y% =(x*y)/100 प्रतिशत का भिन्न में परिवर्तन  Expression per cent (x%) into fraction.  Required fraction=x/100 भिन्न का प्रतिशत में परिवर्तन  Expressing a fraction (x/y) in per cent. Required percentage=(x/y)*100)% अन्य के सम्बन्ध में एक मात्रा की प्रतिशत के रूप…

Read More