Competitive Exam Notes for Probability (प्रायिकता)

प्रायिकता के बारे में सभी प्रायिकता प्रायिकता का सिद्धांत आकस्मिक घटनाओं को समझने में सहायता करती है. प्रायिकता सिद्धांत ka केंद्र आकस्मिक वस्तुएं या चर और घटनाएं हैं. घटना को आम तौर पर एक प्रयोग के परिणाम के रूप में परिभाषित किया गया है. घटनाओं को निर्धारणात्मक या रूप में  या प्रायिकता (आकस्मिक) में वर्गीकृत किया जा सकता है। निर्धारणात्मक घटना जब एक प्रयोग समरूप शर्तों के तहत दोहराया जाता है और यह एक ही परिणाम का प्रदान करता है, तब इस प्रयोग को निर्धारणात्मक प्रयोग के रूप में जाना जाता है. ☞उदाहरण के तौर पर  यदि एक कार निर्बाध स्थिति में…

Read More